क्राइम

अंकिता हत्याकांड को लेकर बवाल, गुस्साए लोगों ने फूंकी आरोपी की फैक्ट्री, कल रिजॉर्ट में थी तोड़फोड़…

उत्तराखंड 24 सितंबर 2022 : अंकिता भंडारी मर्डर केस में प्रदेशभर में उबाल है। आक्रोशित भीड़ ने गंगा भोजपुर स्थित वनंतरा रिजॉर्ट काे आग के हवाले कर दिया। यह रिजॉर्ट भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य का है, जो अंकिता हत्याकांड में मुख्य आरोपी है। प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें फांसी की सजा दी जाए। शनिवार सुबह एसडीआरएफ की टीम ने चीला पावर हादस के शक्तिनहर कनाल से अंकिता का शव भी बरामद किया था। प्रदर्शनकारियों ने यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की है।

राजनीतिक संगठनों और महिला मंच के सदस्यों ने उत्तराखंड सरकार के खिलाफ शनिवार को जमकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि दोषियों को फांसी की थी। प्रदर्शनकारियें ने रैली निकालकर दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की। एसडीआरएफ ने अंकिता शव बरामद कर लिया है।

अंकिता मर्डर केस से भड़के स्थानीय लोगों ने आरोपी पुलकित आर्य के रिजॉर्ट के पिछले हिस्से को आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है कि रिजॉर्ट के पीछे अचार बनाने की फैक्ट्री है, जो कि हत्या के आरोपी पुलकित आर्य की ही है। लोगों ने पहले यहां तोड़फोड़ की। फिर फैक्ट्री में आग लगाई। गुस्साए लोगों ने बीजेपी विधायक रेणु बिष्ट की कार में भी तोड़फोड़ कर दी। साथ ही लोग इतने गुस्से में हैं कि आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे हैं।

इससे एक दिन पहले पुलिस की गाड़ी में सवार आरोपियों को ग्रामीणों ने घेर लिया था और उनकी जमकर मारपीट की थी। घटना के वीडियो और तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहे हैं। बता दें कि इससे पहले देर रात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सख्ती के बाद प्रशासन ने अंकिता हत्याकांड के आरोपी पुलकित आर्य के रिजॉर्ट पर बुलडोजर चलाया है।

क्या है अंकिता हत्याकांड का पूरा मामला

पुलिस के अनुसार 18 सितंबर की शाम को पुलकित और अंकिता का रिजॉर्ट में झगड़ा हुआ था। तब पुलकित ने अंकित और सौरभ से कहा कि अंकिता गुस्से में है, इसे लेकर ऋषिकेश चलते हैं। इसके बाद एक बाइक और एक स्कूटी से चारों लोग ऋषिकेश के लिए निकले। चारों AIIMS ऋषिकेश पहुंचे और वहां से लौट आए। वापसी में बैराज चौकी से करीब डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर चीला रोड पर नहर के किनारे पुलकित और अंकिता अंधेरे में एक जगह पर रुके थे। वहीं रुककर चारों ने मोमोज़ खाए और तीनों लड़कों ने शराब पी। इस दौरान अंकिता और पुलकित के बीच फिर विवाद होने लगा। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि, अंकिता हमें अपने साथियों के बीच बदनाम करती थी। हमारी बातें अपने साथियों को बताती थी कि हम उसे कस्टमर से संबंध बनाने के लिए कहते हैं। अंकिता कहने लगी कि वह रिजॉर्ट की हकीकत सबको बता देगी और उसने पुलकित का मोबाइल नहर में फेंक दिया। इसके बाद अंकिता की आरोपियों से हाथापाई होने लगी और आरोपियों ने उसे नहर में धक्का दे दिया।

Back to top button