Uncategorized @hi

भाजपा का कांग्रेस पर बड़ा हमला, ऊहापोह, आपसी अंतर्कलह और बिखराव की वजह से हारी कांग्रेस

रायपुर 8 जून 2024। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता केदारनाथ गुप्ता ने लोकसभा चुनाव के नतीजों के परिप्रेक्ष्य में कांग्रेस में एक बार फिर मचे गुटीय घमासान को लेकर तीखा कटाक्ष करते हुए कहा है कि बजाय शर्मनाक पराजय के कारणों की समीक्षा करने के कांग्रेस के लोग आपसी जूतमपैजार में लग गए हैं और अपनी चमड़ी बचाने के लिए एक-दूसरे पर ठीकरा फोड़ रहे हैं। श्री गुप्ता ने कहा कि कांग्रेस का संगठनात्मक ढाँचा इस बुरी तरह चरमरा गया है कि वहाँ अब कोई किसी सुनने को तैयार ही नहीं है।

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री गुप्ता ने कहा कि आत्म-चिंतन के नाम पर कांग्रेस के लोग अब एक-दूसरे पर आरोप लगाने का ही काम कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव में करारी सिकस्त के बाद भी यही नजारा कांग्रेस में नजर आता रहा और हालत यह थी कि पराजय से सबक लेकर संगठनात्मक ढाँचे और अपने सिकुड़ते जनाधार को दुरुस्त करने पर कांग्रेस का कोई ध्यान नहीं रहा और पूरे लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ऊहापोह, आपसी अंतर्कलह और बिखराव की शिकार रही और नतीजा यह हुआ कि कांग्रेस ने अपनी एक सीट लोकसभा चुनाव में गवाँ दी। श्री गुप्ता ने कहा कि पूर्व मंत्री धनेंद्र साहू के ताजा बयान का हवाला दिया जिसमें धनेंद्र साहू ने कहा है कि पहले तय हुआ था कि बड़े लोग चुनाव लड़ेंगे, पर बाहर जाकर लड़ेंगे, यह तय नहीं हुआ था।

सबने अपनी-अपनी पसंद की सीटे छाँट ली और बड़े लोग ही चले गए। कार्यकर्ताओं की अनदेखी हुई। भूपेश बघेल चुनाव लड़े वहां कार्यकर्ताओं ने मंच से कहा कि वह बाहरी हैं। श्री गुप्ता ने कहा कि आज नेता प्रतिपक्ष चरणदास महंत कह रहे हैं कि उनका (महंत का) किसी ने साथ नहीं दिया। उनका तो ईश्वर हमेशा साथी रहा है। श्री गुप्ता ने कहा कि कांग्रेस में जो सत्ता से लेकर संगठन तक भ्रष्टाचार व्याप्त है, वही कांग्रेस की अंतर्कलह का बड़ा कारण है। सत्ता में रहकर कांग्रेसी छत्तीसगढ़ को लूटते रहे और इसके कारण आज अंतर्कलह सामने दिखाई दे रही है। श्री गुप्ता ने कहा कि हम सदा से कहते रहे हैं कि छत्तीसगढ़ को लूटने वाली कोई पार्टी है तो वह कांग्रेस ही है और विधानसभा के बाद अब लोकसभा चुनावों में करारी हार के बाद कांग्रेस में मची सिर-फुटौव्वल से यह स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ रहा है।

Back to top button