हेडलाइन

CG- शराबी प्राचार्य गिरफ्तार, स्कूल में दारू पीकर जमाते थे धौंस, शिक्षिकाओं व छात्राओं ने खोला मोर्चा

रायपुर 29 जून 2024। आखिरकार शराबी प्राचार्य को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। धरसींवा के दाऊ पोषणलाल शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में पदस्थ प्राचार्य पर आरोप था कि वो दुर्व्यवहार करते हैं और शराब पीकर स्कूल आते हैं। शुक्रवार को अचानक स्कूल में  हंगामा हो गया। तमाम व्याख्याता व छात्र-छात्राएं प्राचार्य संजय शर्मा के खिलाफ शराब के नशे में स्कूल आकर रोज दुर्व्यवहार का आरोप लगाने लगे और शिकायत क्षेत्रीय विधायक अनुज शर्मा तक पहुचा दी साथ ही कलेक्टर रायपुर गौरव सिंह को सूचना दे दी।

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

शिक्षिकाओं ने बताया कि, संजय शर्मा अपनी राजनीतिक पहुंच के मद में चूर हैं। वे शिक्षिकाओं से कहते थे कि, जो करना है कर लो, बीईओ, डीईओ, कलेक्टर जिससे शिकायत करना है कर लो। मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। कई बार इसकी शिकायत आला अधिकारियों से की गई लेकिन मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई।

कलेक्टर गौरव सिंह के संज्ञान में मामला आते ही तहसीलदार जयेन्द्र सिंह, नायब तहसीलदार, बीईओ संजय पुरी गोस्वामी स्कूल पहुंचे। उन्होंने वहां मौजूद तमाम व्याख्याताओ की बात सुनी। मौके पर धरसींवा पुलिस भी पहुंची फिर प्राचार्य संजय शर्मा को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए भेजा गया। पुलिस ने प्राचार्य के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्यवाही की ओर चिकित्सकीय परीक्षण के बाद तहसीलदार के समक्ष पेश किया। जहां से उन्हें जमानत नहीं मिली और जेल भेजने के आदेश हुए।

पुलिस ने किया बड़ा खुलासा शराबी प्राचार्य के खिलाफ दाऊ पोषण लाल शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में घंटों हंगामा चला। व्याख्याता सुधा यदु, सुभ्रा सिंह, रेखा केशरी, लेखिन वर्मा एवं छात्र छात्राओं ने बयान में बताया कि प्राचार्य हमेशा ही शराब पीकर स्कूल आते हैं और अभद्र बर्ताव करते हैं। स्कूल की बदनामी न हो यह सोच कर हम लोग चुपचाप सहन करते रहे।

व्यक्तिगत रूप से बीईओ को जरूर अवगत कराएं ताकि वह उन्हें समझा दें लेकिन जब पानी सिर के ऊपर हो गया तब मजबूरी में उनके खिलाफ शिकायत करना पड़ी। इस मामले में तहसीलदार जयेन्द्र सिंह ने बताया कि प्राचार्य के खिलाफ सभी स्टाफ ने शराब पीकर स्कूल आने और अभद्र बर्ताव की शिकायत कलेक्टर से की थी। इस पर तत्काल संज्ञान लेते हुए मौके पर जाकर प्राचार्य का चिकित्सकीय परीक्षण कराया, जिसमे शराब पीने की पुष्टि हुई। उनके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही करते हुए जेल भेजने के आदेश हुआ हैं।

Back to top button