क्राइम

CG : महिला डाॅक्टर और उसका पति गिरफ्तार : गैंगरेप पीड़ित नाबालिग का महिला डाॅक्टर ने कराया गर्भपात, जांच के बाद पुलिस ने लिया एक्शन

राजनांदगांव 20 जून 2024। राजनांदगांव जिले में नाबालिग लड़की के साथ हुए गैंगरेप की घटना में पुलिस ने महिला डाॅक्टर और उसके पति को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि पीड़ित नाबालिग लड़की घटना के बाद प्रेग्नेंट हो गयी थी, जिसका महिला डाॅक्टर ने गर्भपात कराया था। पुलिस की जांच में इस बात की पुष्टि होने के बाद आरोपी महिला डाॅक्टर और उसके पति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

जानकारी के मुताबिक पूरा घटनाक्रम राजनांदगांव जिला के गैंदाटोला थाना क्षेत्र का है। बताया जा रहा है कि साल 2023 के अक्टूबर में नाबालिग लड़की अपनी दीदी के साथ खेत धान काटने गई थी। तभी गांव में रहने वाले सौरभ कंवर और डोमन कंवर ने लड़की का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था। आरोप है कि घटना के बाद भी पीड़िता को धमका कर आरोपियों ने कई बार गैंगरेप किया गया, जिससे पीड़ित नाबालिग का गर्भ ठहर गया। पीड़ित नाबालिग के पेट में तकलीफ बढ़ने पर घरवालों ने डाॅक्टर से इसकी जांच करायी।

तब उन्हे बेटी के गर्भवती होने की जानकारी हुई। पीड़ित लड़की की तबियत बिगड़ने पर उसे राजनांदगांव के जय तुलसी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टर के द्वारा चेकअप करने पर बच्चा खराब हो जाने व पीड़िता की उम्र कम होने के कारण मां नहीं बन पाने की दलील देकर 23 अप्रैल 2024 को गर्भपात करा दिया गया। इस घटना के खुलासे के बाद पीड़ित लड़की और उसके परिजनों की रिपोर्ट पर पुलिस ने दोनों आरोपियों की तलाश शुरू की गयी। 27 अप्रैल को इस घटना पर अपराध दर्ज होने के बाद गैंगरेप की घटना को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों को 28 अप्रैल को गिरफ्तार कर जेल भे दिया गया।

नाबालिग के साथ हुए गैंगरेप के बाद उसका गर्भपात कराये जाने के प्रकरण में जांच शुरू की गयी। जिस पर जांच के बाद पुलिस ने जय तुलसी अस्पताल की डॉक्टर विजयश्री जैन और अस्पताल के संचालक अमोलक कुमार जैन को इस मामले में आरोपी बनाया गया है। पुलिस का कहना है कि नाबालिग लड़की के गर्भपात की सूचना डाॅक्टर दंपति ने पुलिस को देने के बजाये इस घटना पर पर्दा डालने का प्रयास किया गया। जिस पर एक्शन लेते हुए पुलिस ने पाक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर महिला डाॅक्टर और उसके पति को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के बाद न्यायालय से आरोपी डाॅक्टर दंपति को जेल भेज दिया गया है।

Back to top button