Business

मार्केट में हाई डिमांड वाले इस ड्राय फ्रूट की खेती बनाएगी मालामाल,जाने यूनिक तरीका

मार्केट में हाई डिमांड वाले इस ड्राय फ्रूट की खेती बनाएगी मालामाल

मार्केट में हाई डिमांड वाले इस ड्राय फ्रूट की खेती बनाएगी मालामाल,जाने यूनिक तरीका यह एक ऐसा उत्पाद है जिसे सर्दी, गर्मी, बरसात हर मौसम में खाया जाता है। इसके अलावा बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सभी इसे बड़े चाव से खाते हैं। तो आइये आज हम आपको इस फल की खेती कैसे की जाती है तो बने रहिये अंत तक-

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

मार्केट में हाई डिमांड वाले इस ड्राय फ्रूट की खेती बनाएगी मालामाल,जाने यूनिक तरीका

Read Also: अपडेटेड फीचर्स के साथ 2025 में लांच होने को है तैयार Mahindra की न्यू कार

इसके पेड़ लगाकर किसान अच्छी कमाई कर सकते हैं। काजू की खेती कैसे करें? काजू को सूखे मेवे के तौर पर काफी लोकप्रिय माना जाता है। इसका एक पेड़ होता है। पेड़ की लंबाई 14 मीटर से लेकर 15 मीटर या इससे भी ज्यादा हो सकती है। इसके पौधे 3 साल में फल देने के लिए तैयार हो जाते हैं। काजू के अलावा इसके छिलकों का भी इस्तेमाल किया जाता है। छिलकों से पेंट और लुब्रिकेंट तैयार किए जाते हैं। इसलिए इसकी खेती काफी मुनाफे वाली मानी जाती है। काजू का पौधा गर्म तापमान पर अच्छी तरह से बढ़ता है. इसकी खेती के लिए उपयुक्त तापमान 20 से 35 डिग्री के बीच है. इसके अलावा इसे किसी भी तरह की मिट्टी में उगाया जा सकता है. फिर भी, इसके लिए लाल बलुई दोमट मिट्टी बेहतर मानी जाती है!

मार्केट में हाई डिमांड वाले इस ड्राय फ्रूट की खेती बनाएगी मालामाल,जाने यूनिक तरीका

काजू की खेती सबसे अधिक इन राज्यों में होती है

काजू के कुल उत्पादन का 25 प्रतिशत भारत से आता है. केरल, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में इसकी खेती अच्छे स्तर पर की जाती है. हालांकि, अब झारखंड और उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भी इसकी खेती की जा रही है!

मार्केट में हाई डिमांड वाले इस ड्राय फ्रूट की खेती बनाएगी मालामाल,जाने यूनिक तरीका

एक बार पौधा लगाने पर सालो देता है फल

काजू का पौधा एक बार लगाने के बाद कई सालों तक फल देता है. पौधे लगाने के समय खर्च भी होता है. एक हेक्टेयर में 500 काजू के पेड़ लगाए जा सकते हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक, एक पेड़ से 20 किलो काजू मिल सकता है. एक हेक्टेयर में 10 टन काजू का उत्पादन होता है. इसके बाद प्रोसेसिंग का खर्च आता है. बाजार में काजू 1200 रुपये प्रति किलो बिकता है. ऐसे में अगर आप अधिक संख्या में पेड़ लगाएंगे तो न सिर्फ लखपति बल्कि करोड़पति भी बन जाएंगे।

Back to top button