हेडलाइन

पूर्व डिप्टी सीएम का NEET पेपर लीक कनेक्शन? उप मुख्यमंत्री ने प्रेस कांफ्रेंस कर किया बड़ा खुलासा

NEET PAPER LEAK: नीट पेपर लीक का सॉलिड बिहार कनेक्शन सामने आया है। पूर्व डिप्टी सीएम का इस मामले में नाम आ रहा है, जिसकी वजह से राजनीति भी गरमा गयी है। बिहार के डिप्टी CM विजय कुमार सिन्हा ने दावा किया है कि NEET पेपर लीक मामले के आरोपियों के लिए सरकारी गेस्ट हाउस तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम कुमार ने बुक किया था।विजय सिन्हा ने कहा कि 1 मई को प्रीतम ने सरकारी गेस्ट हाउस के कर्मचारी प्रदीप कुमार को फोन कर पेपर लीक कांड के मास्टरमाइंड सिकंदर कुमार यादवेंदु के लिए कमरा बुक करने को कहा।

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

गेस्ट हाउस के एंट्री रजिस्टर में अनुराग यादव का नाम है। उसके आगे मंत्री जी लिखा है। सिन्हा का दावा है कि ये मंत्री जी तेजस्वी यादव के लिए लिखा गया था।इधर, बिहार में नीट पेपर लीक को लेकर शिक्षा मंत्रालय ने बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई से डिटेल रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

विजय सिन्हा ने नीट और “मंत्री एनएच” कनेक्शन पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि मैंने मामले की विभागीय जांच कराई है. जानकारी के अनुसार, 1 मई को तेजस्वी के पीएस प्रीतम कुमार ने आरसीडी कर्मचारी प्रदीप को सिकंदर कुमार के लिए राज्य सरकार के पथ निर्माण विभाग (NH) के निरीक्षण गेस्ट हाउस में कमरा बुक करने के लिए बुलाया था.

उन्होंने आगे कहा कि अब गेस्ट हाउस का नियम है कि अधिततम तीन कमरे 3 दिन के लिए बुक कर सकते हैं. इससे ज्यादा बुक करने की अनुमति NH के अधिकारियों को ही है. इस मामले का प्रीतम कुमार और तेजस्वी से सीबीआई पूछताछ करे तो स्पष्ट होगा कि पेपर लीक में किसका हाथ है.

बिहार में अमूमन जो मंत्री रहते हैं, सिर्फ उन्हीं को नहीं स्टाफ बाद में भी पूर्व मंत्री को भी मंत्री जी बुलाया जाता है. इसी तरह मंत्री जी कहकर प्रीतम ने बुक‍िंग कराई. विजय स‍िन्हा दावा कर रहे हैं कि प्रीतम और सिकंदर यादव के बीच के रिश्तों की कड़ी जुड़ रही है. मंत्री जी के नाम पर प्रीतम ने जो कमरा बुक कराया वो तेजस्वी का नाम देकर कराया. प्रतिभा का सम्मान होना चाहिए, सरकार भी सजग है, लेकिन ऐसे कौन लोग हैं जो व्यवस्थाओं को ही नहीं पूरे बिहार को बदनाम करते हैं. पूरी जांच रिपोर्ट आने के बाद कोई नहीं बचेगा.

Back to top button