हेडलाइन

पदोन्नति पर संशय को लेकर शिक्षा सचिव,संचालक से मिला शालेय शिक्षक संघ, पूछा, इच्छाशक्ति का अभाव या कर्मचारी हितों पर कुठाराघात, पुरानी व त्रुटिपूर्ण सूची से प्रस्ताव मांगना, विभाग की नीयत पर प्रश्नचिन्ह

पदों का विभाजन: एल बी संवर्ग के साथ अन्याय, शालेय शिक्षक संघ की मांग:पहले हो सूचियों की त्रुटियों का निराकरण, अद्यतन तथा पदों का समुचित विभाजन,वीरेंद्र दुबे ने किया मांग युक्तियुक्तकरण के पहले हो पदोन्नति: कर्मचारी हितों पर कुठाराघात बर्दाश्त नहीं

पदों का विभाजन: एल बी संवर्ग के साथ अन्याय: शालेय शिक्षक संघ की मांग:पहले हो सूचियों की त्रुटियों का निराकरण, अद्यतन तथा पदों का समुचित विभाजन

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

रायपुर 11 जुलाई 2024। राज्य के सबसे बड़े विभाग स्कूल शिक्षा विभाग की बेतरतीब कार्यशैली, लालफीताशाही व कर्मचारी हितों के प्रति उदासीनता से विभाग के लाखों कर्मचारी न केवल आहत हैं, बल्कि उनमें भारी आक्रोश भी व्याप्त है।

ज्ञातव्य है कि स्कूल शिक्षा विभाग में पदोन्नति के लगभग 40 हजार संस्था प्रमुख व शिक्षकीय पद रिक्त हैं। व्याख्याता व प्राचार्य के रिक्त पदों पर 7 वर्षों से पदोन्नति नहीं दी गई है, जबकि फीडिंग कैडर के लाखों कर्मचारी बेसब्री न केवल पदोन्नति की प्रतीक्षा कर रहे हैं बल्कि पदोन्नति से वंचित रहते हुए सेवानिवृत्त भी हो रहे हैं।

विभाग में आलम यह है कि स्थानांतरण, युक्तियुक्तकरण,नई नई योजनाएं बनाने आदि में तो भारी रुचि ली जाती है, भले ही उसमें भर्राशाही व्याप्त होकर भारी अव्यवस्था फैल जाए, लेकिन कर्मचारी हितैषी पदोन्नति जैसे कार्यों में विभाग की नीयत पर प्रश्नचिन्ह है।

शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे ने बताया कि वर्तमान में प्राचार्य व व्याख्याता पदों पर पदोन्नति के लिए विगत 06 वर्षों से जारी हो रही त्रुटिपूर्ण सूची से ही प्रस्ताव मंगाई गई है, जबकि संगठन ने उक्त सूचियों की सैकड़ों त्रुटियों का प्रमाण सचिव व संचालक महोदय सहित जिम्मेदार अधिकारियों को सौंपकर सत्यापन करने व त्रुटि रहित सूची जारी करने की मांग की थी।
स्कूल शिक्षा विभाग में कार्यरत लगभग 01 लाख 80 हजार एल बी संवर्ग के शिक्षकों को उनकी संख्या के अनुपात में पदोन्नति का पद नहीं दिया जा रहा है जो कि एल बी संवर्ग के हितों के प्रति कुठाराघात है।

आज शालेय शिक्षक संघ के प्रांतीय प्रतिनिधिमंडल ने प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे के नेतृत्व में संचालक लोक शिक्षण संचालनालय सुश्री दिव्या उमेश मिश्रा से मिलकर समस्त आपत्तियों को उनके सामने रखते हुए कड़ा ऐतराज जताया तथा अविलंब विसंगतियों के निराकरण की मांग की।

प्रांतीय महासचिव धर्मेश शर्मा ने शिक्षक ई एल बी से व्याख्याता पद पर पदोन्नति हेतु प्रस्ताव नहीं मंगाए जाने का मुद्दा उठाया,जिसे स्वीकार करते हुए शीघ्र ही प्रस्ताव मंगाने की बात संबंधित अधिकारियों ने कही है।

संगठन के सरगुजा जिला अध्यक्ष सर्वजीत पाठक ने एल बी संवर्ग को पदोन्नति के अत्यंत कम पद दिए जाने का विरोध करते हुए एल बी संवर्ग को उनकी संख्या के अनुपात में वर्तमान की कुल रिक्तियों के आधार पर पद देने की मांग की है।
प्रदेश मीडिया प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने जानकारी दी कि संचालक व संबंधित अधिकारियों ने आश्वस्त किया है कि समस्त त्रुटियों को सुधारकर ही पदोन्नति की प्रक्रिया आगे बढ़ाई जाएगी।

शालेय शिक्षक संघ के प्रांतीय पदाधिकारी चन्द्रशेखर तिवारी सुनील सिंह,विष्णु शर्मा,डॉ सांत्वना ठाकुर,सत्येंद्र सिंह,विवेक शर्मा,गजराज सिंह,राजेश शर्मा,शैलेन्द्र सिंह,प्रह्लाद जैन,सन्तोष मिश्रा,सन्तोष शुक्ला,शिवेंद्र चंद्रवंशी,दीपक वेंताल,यादवेंद्र दुबे,सर्वजीत पाठक,मंटू खैरवार,पवन दुबे,भोजराम पटेल,विनय सिंह,आशुतोष सिंह,भानु डहरिया,रवि मिश्रा,जितेंद्र गजेंद्र,अजय वर्मा,कृष्णराज पांडेय,घनश्याम पटेल,कैलाश रामटेके,बुध्दहेश्वर शर्मा,प्रदीप पांडेय,देवव्रत शर्मा,अब्दुल आसिफ खान,अमित सिन्हा, विक्रम राजपूत,द्वारिका भारद्वाज,खेमन साहू,सुशील शर्मा, विजय बेलचंदन, अशोक देशमुख,तिलक सेन आदि पदाधिकारियो ने सरकार से उपरोक्त मांगो पर जल्द से जल्द निर्णय लेने की मांग की ।

Back to top button