हेडलाइन

मांग पर मुहर:संयुक्त शिक्षक संघ ने भीषण गर्मी को देखते हुए, ग्रीष्मावकाश बढ़ाने की थी मांग… शिक्षामंत्री ने ग्रीष्मावकाश बढ़ाने की घोषणा, संघ ने किया आभार

रायपुर 16 जून 2024। छत्तीसगढ़ में शिक्षा का नया सत्र 16 जून से प्रारंभ होना था। इसी दिन से सभी स्कूल खुल जाने थे। जिसके लिए शिक्षा विभाग अपने स्तर पर मुस्तादी से तैयारी में लगा हुआ था, लेकिन छत्तीसगढ़ में चल रहे भीषण गर्मी और लू को देखते हुए स्कूल का खोला जाना छात्रों के लिए जोखिम भरा हो सकता था क्योंकि मौसम विभाग लगातार गर्मी और लू को देखते हुए आम जनता को धूप और गर्मी से बचने और बाहर नहीं निकालने की चेतावनी जारी कर रहा है।

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

इस विषय को गंभीरता से लेते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ के द्वारा प्रांताध्यक्ष केदार जैन के अगुवाई में इस मुद्दा को उठाया गया था और छत्तीसगढ़ सरकार, शिक्षा विभाग, शिक्षामंत्री जी से मांग किया गया था कि गर्मी और लू को देखते हुए ग्रीष्मावकाश को आगे बढ़ाया जाए और 16 जून की जगह 25 जून के बाद स्कूल खोले जाएं तब तक गर्मी से कुछ राहत मिल जाएगा और यह उचित रहेगा। संघ के इस मांग पर शिक्षामंत्री माननीय बृजमोहन अग्रवाल  ने मुहर लगाते हुए सहानुभूति पूर्वक विचार कर आज ग्रीष्मावकाश को 25 जून तक बढ़ाने की घोषणा किया है।

अब स्कूल 26 जून से खुलेगा। संघ के प्रांताध्यक्ष केदार जैन सहित प्रांतीय पदाधिकारी श्रीमती ममता खालसा, ओमप्रकाश बघेल, अर्जुन रत्नाकर, गिरजा शंकर शुक्ला, सोहन यादव, नरोत्तम चौधरी, माया सिंह, रूपानंद पटेल, ताराचंद जयसवाल, विजय राव आदि ने शिक्षामंत्री जी के घोषणा का स्वागत करते हुए, ध्यानवाद ज्ञापित कर आभार व्यक्त किया है और इसे छात्र हित में लिया गया अच्छा निर्णय बताया है। यह जानकारी संघ के प्रांतीय मीडिया प्रभारी अमित दुबे द्वारा प्रदान किया गया।

Back to top button