हेडलाइन

बलौदाबाजार में धारा 144 लागू: बैरिकेट तोड़ते ही बेकाबू हो गयी भीड़, फायर ब्रिगेड की गाड़ी पर चढ़ लगायी आग, देखते ही देखते हिंसक हुई भीड़, 25 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल

रायपुर 10 जून 2024। बलौदाबाजार में हुए हिंसक प्रदर्शन में 25 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इधर शांति व्यवस्था बनाये रखने के मद्देनजर जिले में धारा 144 लागू कर दिया गया है।  प्रदर्शनकारियों ने कहने को तो उच्चस्तरीय जांच और दोषियों पर कार्रवाई के लिए आंदोलन का आह्वान किया था, लेकिन दरअसल उनका मकसद ही आगजनी और मारपीट करना था। घटना को लेकर जो जानकारी सामने आयी है, उसके मुताबिक छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के द्वारा अमर गुफा गिरीधपुरी जैतखाम मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग एवं साथ में पूर्व में बोडसरा, कबीरधाम एवं अन्य जिलों में सतनामी समाज संबंधी विभिन्न मु‌द्दों को लेकर दशहरा मैदान बलौदाबाजार में धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया था।

WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.57 PM
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.58 PM (1)
WhatsApp Image 2024-07-06 at 2.31.56 PM
previous arrow
next arrow

प्रशासन ने की थी बैरिकेटिंग

प्रशासन को भी इसकी सूचना थी, जिसके बाद सुरक्षा प्रबंध हेतु पर्याप्त सख्या में पुलिस बल लगाने के साथ मजिस्ट्रियल ड्यूटी भी लगायी गयी थी। आयोजनकर्ता किशोर नवरंगे भीम क्रांतिवीर अध्यक्ष, दीपक घृतलहरे प्रगतिशील सतनामी समाज, मोहन बजारे प्रगतिशील सतनामी समाज युवा प्रदेश अध्यक्ष, सुशील बजारे प्रगतिशील सतनामी समाज युवा प्रकोष्ट, जितेन्द्र नौरंगे सतनाम सेवा समिती जिला अध्यक्ष, ओमप्रकाश खुटे सतनामी समाज वरिष्ठ, भुनेश्वर डहरिया, दिनेश चतुर्वेदी भीम रेजिमेंट प्रदेश अध्यक्ष आदि के नेतृत्व में शक्ति प्रदर्शन के रूप में आस पास पैदल रैली कर संयुक्त जिला कार्यालय का घेराव किये जाने योजना थी।

समझाने पर भी नहीं माने प्रदर्शनकारी

प्रदर्शनकारियों को बताया गया कि शासन ने इस मामले में उच्चस्तरीय न्यायिक जांच का निर्देश दे दिया है। बावजूद धरना प्रदर्शन स्थगित नहीं किया गया। छत्तीसगढ़ स्तरीय सतनामी समाज के लोग विभिन्न जिलों से आकर दशहरा मैदान बलौदाबाजार में करीबन 7-8 हजार की संख्या में ईक‌ट्ठा हुए। बाद प्रदर्शन में सम्मिलित प्रमुख व्यक्तियों से गार्डन चौक में ज्ञापन देने समझाईस दिया गया, लेकिन इनके द्वारा उक्त समझाईस को अस्वीकार कर दिया गया। प्रदर्शन में आये भीड़ ने 2.45 बजे रैली के रूप में नारेबाजी करते हुए आगे निकल गये।  जिससे पहला बैरिकेट गार्डन चौक पास लगाया गया था जहां पर बैरिकेटिंग को तोड़ फोड़ कर आगे निकल गये।

बैरिकेट तोड़ते हुए बेकाबू हो गयी भीड़

बैरिकेट तोड़ते ही पूरी  रैली नेतृत्वविहीन होकर, सुनियोजित तरीके से नारे बाजी करते हुए चक्रपाणी स्कूल के पास जहा पर बड़ी बैरिकेटिंग लगाया गया था वहां पहुंचकर ड्यूटी में लगे पुलिस अधिकारी कर्मचारियों से काफी धक्का मुक्की, लाही डण्डे से मारकर गभीर चोट पहुंचाया गया व बैरिकेट को तोडकर पथराव करते हुये आगे बढ़ गया। पुलिस द्वारा काफी रोकने की कोशिश की गयी लेकिन भीड उग्र रूप धारण कर पास में खड़ी फायर ब्रिगेड के उपर चढ़कर तोड फोड कर अपने साथ लाये पेट्रोल डीजल से आग लगाते हुए आगे निकल गये। सयुक्त कलेक्ट्रेट कार्यालय के पास उपद्रवीयो द्वारा हिंसक रूप धारणकर पत्थर बाजी कर लाठी डण्डा से पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को मारकर चोट पहुंचाते हुए संयुक्त कलेक्ट्रेड परिसर में खड़ी शासकीय, प्रायवेट लगभग 100 मोटर सायकल एवं 30 से अधिक चारपहिया वाहनों में तोडफोड कर आग लगा दिया गया।

25 से ज्यादा पुलिसकर्मी हुए घायल

साथ ही उपद्रवीयों द्वारा सयुक्त कार्यालय भवन के पुलिस कार्यालय में भी आग लगा दिया, जिससे पुलिस कार्यालय के रिकार्ड जल गया है। संयुक्त कार्यालय भवन को आग लगाने के बाद तहसील कार्यालय में खड़ी गाडिया एव शहर के मुख्य मार्ग में लगे डिवाइंडर को तोडफोट कर नुकसान किया गया है। सिटी सर्विलांस में लगे शहर के रोड में सीसीटीवी कैमरे को तोड दिया गया है। तोडफोड करने में भीम आर्मी भीम रेजिमेंट एवं भीम कातीवीर सेना के कार्यकर्ता, पदाधिकारियों के द्वारा उत्पात मचाया गया है। इन लोगों द्वारा किये गये उत्पात में जिला बलौदाबाजार-भाटापारा एवं अन्य जिलों से आये हुए 25 से अधिक पुलिस अधिकारी कर्मचारी एवं प्रशासनिक अधिकारी काफी गभीर रूप से घायल है. जित्तका ईलाज जारी है। उपद्रवियों द्वारा किये गये तोडफोड, आगजनी आदि का आकलन लगाया जा रहा है।

 

Back to top button